About us

डॉ विनीता शुक्ला- मैंने लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ से 2008 में ‘ रीति कालीन हिन्दी कविता में चित्रित ग्रामीण संस्कृति’ विषय पर पी.एच. डी. की उपाधि प्राप्त की एवम विभिन्न पत्र-पत्रिकाओ में शोध/ लेख एवम कविताओ का प्रकाशन हुआ । “विधिक हिन्दी” शीर्षक पुस्तक का लेखन एवम “राष्ट्रीय कर्तव्य और उच्च शिक्षा” और Issues And Challenges In The Globalised World शीर्षक पुस्तकों का सम्पादन कार्य किया साझा संग्रह ‘एक स्वर मेरा भी’ और ‘समकालीन अपनी अपनी पीड़ा’ पुस्तकों में कविताओं का प्रकाशन हुआ । 13 वर्षो का अध्यापन एवम 15 वर्षों का शोध कार्य का अनुभव है । 2013- 2018 तक अमिटी विश्वविद्यालय, लखनऊ कैम्पस में सहायक आचार्य पद पर अध्यापन कार्य किया । विगत 03 वर्षो से नवल फ़ाउंडेशन (नवल रिसर्च इंस्टीट्यूट) में सदस्य एवम सलाहकार पद पर कार्यरत हूँ । शोध कार्य में रुचि व अनुभव होने के करण मैंने ब्लॉग स्पॉट पर एक ब्लॉगर की तरह कार्य करते हुये अपने विचार, शोध व ज्ञान को ब्लॉग स्पॉट के माध्यम से लोगो तक पहुचाने का सफल प्रयास करना चाहती हूँ । मेरी website www.vicharaurshodh.com है ।