Ritikaal

RITIKAVIYON KA BHAKTI NIRUPAN

Ritikaviyon Ka Bhakti Nirupan | Best 1700 – 1900 भक्ति भावना और भक्ति परंपरा

Ritikaviyon Ka Bhakti Nirupan रीतिकवियों का भक्ति निरूपण Ritikaviyon Ka Bhakti Nirupan रीतिकाल की मुख्य विशेषता न होकर गौण विशेषता है। रीतिकवियों की भक्ति भावना उनकी श्रंगारिकता और रसिकता की प्रवृति से हटा कर शांति प्रदान करने का संबल प्रतीत… Read More »Ritikaviyon Ka Bhakti Nirupan | Best 1700 – 1900 भक्ति भावना और भक्ति परंपरा

RITIKAVYA MEIN PRAKRITI CHITRAN

Ritikavya Mein Prakriti Chitran | Best 1700-1900 रीतिकालीन उत्सव और ऋतु वर्णन

Ritikavya Mein Prakriti Chitran रीतिकाव्य में प्रकृति चित्रण Ritikavya Mein Prakriti Chitran रीतिकाव्य की प्रमुख विशेषता नहीं रही, किन्तु रीतिकाव्य में प्रकृति के मनोहारी दृश्य देखने को मिलते हैं। सम्पूर्ण रीतिकाव्य में प्रकृति रीतिकालीन उत्सव व विभिन्न प्रकार की सुंदर… Read More »Ritikavya Mein Prakriti Chitran | Best 1700-1900 रीतिकालीन उत्सव और ऋतु वर्णन

RITIKAAL MEIN LOK JIWAN

Ritikaal Mein Lok Jiwan | Best 1700-1900 ग्रामीण जीवन, संस्कार, त्यौहार व धार्मिक विश्वास

Ritikaal Mein Lok Jiwan रीतिकाल में लोक जीवन Ritikaal Mein Lok Jiwan से तात्पर्य तत्कालीन ग्रामीण जन–जीवन से है। रीतिकाल में जहाँ एक ओर दरबारी वातावरण था, जो विलासिता में निमग्न अपनी संस्कृति और मानव मूल्यों को विस्मृत करता जा… Read More »Ritikaal Mein Lok Jiwan | Best 1700-1900 ग्रामीण जीवन, संस्कार, त्यौहार व धार्मिक विश्वास

Ritikavya Mein Nari

Ritikavya Mein Nari | Best 1700-1900 रीतिकाल परिचय और गौरवपूर्ण नारी

Ritikavya Mein Nari रीतिकाव्य में नारी Ritikavya Mein Nari चित्रण प्रमुख आकर्षण का केंद्र रहा। नारी निरूपण के अंतर्गत विलासिनी नारी के रूप का वर्णन किया गया। रीतिकाव्य में तत्कालीन सामंती संस्कृति के फलस्वरूप नारी का सम्मान नष्ट होता जा… Read More »Ritikavya Mein Nari | Best 1700-1900 रीतिकाल परिचय और गौरवपूर्ण नारी

Ritikalin Bhartiya Samaj Aur Naitik Adarsh

Ritikalin Bhartiya Samaj Aur Naitik Adarsh | Best 1700 ग्रामीण समाज, नैतिक आदर्श व मानवमूल्य

Ritikalin Bhartiya Samaj Aur Naitik Adarsh रीतिकालीन भारतीय समाज और नैतिक आदर्श Ritikalin Bhartiya Samaj Aur Naitik Adarsh तथा मानव मूल्यों की बात की जाए तो रीतिकालीन भारतीय समाज की ग्रामीण सामान्य जनता के जीवन में नैतिक आदर्शों तथा मानवमूल्य की स्पष्ट… Read More »Ritikalin Bhartiya Samaj Aur Naitik Adarsh | Best 1700 ग्रामीण समाज, नैतिक आदर्श व मानवमूल्य